धर्म शास्त्रों के अनुशार , रक्षाबंधन पर्व श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है।

इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर धागा का सूत्र बांधती हैं। जिससे जन्मो का प्यार बना रहे

ज्योतिषियों का कहना है कि साल रक्षाबंधन 200 साल बाद  बेहद शुभ मुहूर्त लेकर आया है।

इस साल  रक्षाबंधन का त्योहार पुरे भारत में 12 अगस्त को मनाया जायेगा

अभिजीत मुहूर्त- दोपहर 12 बजे से 12 बजकर 53 मिनट तक

अमृत काल- शाम 06 बजकर 55 मिनट से 08 बजकर 20 मिनट तक

विजय मुहूर्त- दोपहर 02 बजकर 39 मिनट से लेकर 03 बजकर 32 मिनट तक

12 अगस्त को सुबह 07 बजकर 06 मिनट तक ही राखी का त्योहार मना सकते हैं