Diwali kab hai 2022, 24 अक्टूबर को मनेगा पुरे भारत में दीपावली

दीपावली हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्योहारो में से एक है। यह त्योहार विशेष रूप से पुरे भारत में मनाया जाता है। तो आइये आज के आर्टिकल में दीपावली(Diwali) से जुड़ी सभी रोचक तथ्यों और महत्पूर्ण बात जानते है।

दीपावली का त्योहार हर साल कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष अमावस्या तिथि को मनाया जाता है। दीपावली त्योहार शुरू होने से दो दिन पहले धनतेरस होता है। इस धनतेरस के दिन लोग बाजार से नया नया सामान खरीदते है।

दीपावली से ठीक दो दिन पहले धनतेरस के दिन बाजार में खूब उमश की भीड़ लगी रहती होती है। सभी लोग इस धनतेरस के दिन अपने लिए कुछ न कुछ सामान खरीदते है।

दीपावली कब है 2022

इस साल दीपावली (Diwali) कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष अमावस्या को तिथि 24 अक्टूबर और 25 अक्टूबर को है। रिपोर्ट के अनुशार 24 अक्टूबर को बड़ा दीपावली है। वही 25 अक्टूबर को छोटा दीपावली मनाया जायेगा

रिपोर्ट के अनुशार , 25 अक्टूबर को अमावस्या तिथि प्रदोष काल से पहले ही समाप्त हो जा रही है वही 4 अक्टूबर को प्रदोष काल में अमावस्या तिथि मौजूद रहेगी। इसलिए 24 अक्टूबर को सम्पूर्ण रूप से पुरे भारत में दीपावली (Diwali) का त्योहार मनाया जायेगा

2022 से जुड़ी सभी अपडेट

दीपावली 2022 शुभ मुहूर्त कब है।

रविवार 23अक्टूबर को त्रयोदशी तिथि शाम 6 बजकर 04 मिनट तक रहेगी।उसके बाद चतुर्दशी तिथि लग जायेगा

वही 24 तारीख को शाम 5 बजकर 28 मिनट पर तुर्दशी तिथि समाप्त होते ही अमावस्या तिथि आरंभ होगा और उसके बाद से दीपावली 2022 का त्योहार पुरे भारत में मनाया जायेगा

दीपावली कैसे मनाते है ?

पुरे भारत में दीपावली का त्योहार बड़ी धूम धाम से मानते है। इस दिन भगवन लक्ष्मी की पूजा की जाती है। ये भी कहा जाता है ,की भगवान लक्ष्मी साल में एक बार घर में आते और आशीर्वाद देते है , दीपावली का त्योहार दीप जलाकर मानते है।

दीपावली मनाने के पीछे बहुत बड़ा कथा है जिसे आपको जरूर जानना चाहिए तो आइये हम आपको संक्षिप्त शब्दों में बताते है। कहा जाता है की दीपावली के ठीक 20 दिन पहले भगवन राम रावण को वध कर वापस योध्या नगरी लौटे थे इसी के ख़ुशी में पूरा अयोध्या नगरी को दीपो से सजाया गया था उसी दिन से पुरे भारत में दीपावली का त्योहार मनाया जाता है।

दिवल के दिन किस भगवन की पूजा करते है।

दिवाली के दिन भगवान लक्ष्मी-गणेश पूजन की जाती है। पूजा शुरू करने से पहले भगवान कलश को तिलक लगाकर पूजा आरम्भ की जाती है। हाथ में चावल फूल लेकर भगवान लक्ष्मी-गणेश का पाठ पढ़ते है। कुछ लोग पंडित जी के साथ पूजा करते है। और मंत्रो का उच्चरण करते है।

दिवाली के दिन किस भगवन की पूजा करते है।

दिवाली के दिन भगवान लक्ष्मी-गणेश पूजन की जाती है। पूजा शुरू करने से पहले भगवान कलश को तिलक लगाकर पूजा आरम्भ की जाती है। हाथ में चावल फूल लेकर भगवान लक्ष्मी-गणेश का पाठ पढ़ते है। कुछ लोग पंडित जी के साथ पूजा करते है। और मंत्रो का उच्चरण करते है।

दिवाली के दिन बच्चे पटाके और रंग बिरंगो का दीप मोमबती जलाते है। पूरा गांव शहर लोग दीप से शजाते है। इस दिन लोग एक दूसरे के साथ खुशिया मानते है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. 2022 में दीपावली कब है?
उत्तर -वर्ष 2022 में दीपावली 24 अक्टूबर को है।

2. दीपावली के दिन किसकी पूजा की जाती है।
उत्तर – लक्ष्मी-गणेश और भगवान श्री राम

3. बिहार में दीपावली कब है?
उत्तर – बिहार और पुरे भारत में दीपावली 24 अक्टूबर 2022 को है।

4. दीपावली क्यों मनायी जाती है।

उत्तर – दिवाली का त्यौहार , प्राचीन काल में श्रीराम के 14 वर्षों बाद वनवास से अयोध्या लौटने की खुशी में अयोध्या के लोग पुरे शहर में दीपो से श्रीराम का स्वागत किया था तब से लेकर अब तक दीपावली दीप और पूजा के साथ मनाया जाता है।

6. दीपावली का अर्थ क्या है?
उत्तर – दीपावली का प्राचीन नाम दीपोत्सव है। अर्थात दीपों का उत्सव।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *